sambhidan kya hota hai भारत का संविधान: अर्थ, संरचना, अधिनियम, मुख्य विशेषताएँ

14895

sambhidan kya hota hai भारत का संविधान: अर्थ, संरचना, अधिनियम, मुख्य विशेषताएँ

sambhidan kya hota hai क्या आप जानना चाहते हैं कि संविधान क्या होता है संविधान का अर्थ क्या होता है हमें संविधान की आवश्यकता क्यों होती है संविधान समाज को क्या देता है भारतीय संविधान का अर्थ क्या है संविधान किसे कहते हैं किसी राष्ट्र को संविधान की आवश्यकता क्यों पड़ती है भारत के संविधान की पीडीएफ डाउनलोड कहाँ से कर सकते हैं तथा संविधान कितने प्रकार के होते हैं अगर आप इन सब के बारे में जानना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को शुरू से लेकर लास्ट तक पड़े क्योंकि हम हमारे इस आर्टिकल में आपको बताएंगे कि संविधान क्या होता है और संविधान का अर्थ क्या होता है

 संविधान क्या होता है sambhidan kya hota hai

संविधान की बात की जाए तो उस देश की राजनीतिक व्यवस्था को न्याय व्यवस्था तथा नागरिकों का जो भी मूलभूत अधिकार होते हैं उनकी रक्षा करने के लिए और एक देश में कानून व्यवस्था का राज करने के लिए सब कुछ व्यवस्थित ढंग से रूपरेखा तय करने के लिए एक संविधान हर देश में बनाया जाता है यह कहेंगे कि रहता है हम लोग उसी को संविधान कहते हैं और इसी संविधान के द्वारा देश के नागरिकों और सरकार के बीच संबंध रहते हैं भारतीय संविधान की बात की जाए तो भारत की संविधान की स्थापना 26 नवंबर 1949 को आंशिक रूप में लागू किया गया था लेकिन 26 जनवरी 1950 को हमारे संविधान को पूरे देश में लागू कर दिया गया था और हम 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में हर साल मनाते हैं

 samvidhan ka kya arth hai संविधान का क्या अर्थ होता है 

संविधान का अर्थ है विधान यानी कि संसार को चलाने के लिए जो भी विधान बनाए जाते हैं उसे ही हम लोग संविधान कहते हैं और हमारे देश में जो भी नियम कानून बनाए गए हैं जिनके द्वारा सरकार और जनता चलती है उसे ही हम संविधान कहते हैं और यही संविधान का अर्थ होता है

 samvidhan ka kya arth hai spasht kijiye 

संविधान जो है वह मूल सिद्धांतों को स्थापित एक समुच्चय जिसके द्वारा राज्य व अन्य संगठन अभीशासित किए जाते हैं संविधान किसी संस्था को प्रचारित करने के लिए बनाया जाता है जिसमें दस्तावेज होते हैं और यह दस्तावेज लिखित रूप में होते हैं जिसमें किसी भी सरकार के द्वारा संविधान से किसी भी प्रकार की चर्चा की जा सके

 samvidhan samaj ko kya deta hai संविधान समाज को क्या देता है 

संविधान हमारे गांव समाज को कानूनी अधिकार देता है जिससे हम अपने रोजमर्रा की जिंदगी में इस्तेमाल करने वाले कानूनी अधिकारों को सही ढंग से अगर जान जाते हैं तो हम अपराध और गुनहा करने से काफी आसानी से बच सकते हैं लेकिन ज्यादातर मामलों में होता  यह है कि कोई अपराध करने के बाद उसे पता चलता है इन सब के बारे में

 sanvidhan sabha kise kahate hain संविधान सभा किसे कहते है 

संविधान सभा की समिति या संस्था को संविधान सभा कहा जाता है जिसके द्वारा संविधान को स्थापित किया जाता है भारत के संविधान को स्थापित करने के लिए एक संविधान की रचना करने के लिए एक सभा को स्थापित किया गया था भारत ने जब 1947 में आजादी ले ली थी उससे पूर्ब 1946 में आजाद होने से पहले भारत के नए संविधान के निर्माण के लिए एक समिति का गठन किया गया था इस संविधान सभा का मुख्य काम होता था कि नए भारत के लिए संपूर्ण संविधान का लिखित रूप में तैयार करना

 संविधान कितने प्रकार के होते हैं

अगर संविधान की बात की जाए तो संविधान की कई प्रणालियां प्रचलित हैं जिनमें से लिखित अलिखित संविधान नम्य  अनम्य  संविधान परिसंघीय अथवा एकात्मक संविधान संसदीय तथा असंसदीय प्रणाली विविन आधार पर विभिन्न प्रकार के होते हैं आइए अब हमें में विस्तार से बताते

1 लिखित संविधान

लिखित संविधान लिखित संविधान उस संविधान को कहा जाता है जिसमें संविधान को संविधान में सब कुछ लिखित रूप में होता है और यह संविधान जनता के सामने प्रस्तुत रहता है संविधान में प्रत्येक नियम लिखा हुआ देता है तथा यह सब दस्तावेजों में मौजूद मौजूद होता है आप इस संविधान का उदाहरण भारत अमेरिका जैसे देश के संविधान से ले सकते हैं

अलिखित संविधान 

अलिखित संविधान अलिखित संविधान वाह  संविधान होते हैं जिनमें कुछ भी लिखित में नहीं होता और यह संविधान वर्षों से चली आ रहे हैं रूढ़िवादी परंपराओं के द्वारा चले आ रहे हैं इनमें सब कुछ अलिखित होता है और कोई भी डॉक्यूमेंट संविधान के बारे में आपको लिखित नहीं मिलेगा जैसा कि आप उदाहरण के तौर पर ब्रिटेन के संविधान को देख सकते हैं

दोस्तों अगर संविधान की बात की जाए तो 1787 में लिखित संविधान में अमेरिका का संविधान प्रथम नंबर पर आता है इसके संविधान में सब कुछ संक्षिप्त में लिखा गया है विश्व का सबसे लिखित संविधान अमेरिका का ही है और दूसरे नंबर पर लिखित संविधान में भारत का संविधान हैं

3  नम्य अनम्य संविधान

नम्य अनम्य संविधान भी काफी ज्यादा देशों में आपको देखने को मिल सकता है नम्य संविधान उस संविधान को कहते हैं जिसमें 50% से अधिक सदस्यों के मतदान के द्वारा आप संविधान में बदलाव कर सकते हैं जबकि अनम्य संविधान उस संविधान को कहते हैं जिसमें एक sadarad सी प्रक्रिया के द्वारा आप संविधान को बदल सकते हैं

4 परिसंघीय अथवा एकात्मक संविधान

परिसंघीय अथवा एकात्मक संविधान की बात की जाए तो यह वाह संविधान होता है जिसमें शक्तियां दो सरकार के पास होती हैं और यह शक्तियां केंद्र और राज्य दोनों सरकार को दी जाती हैं

एकात्मक संविधान एक ऐसा संविधान होता है जिसमें दोनों सरकार अपनी मर्यादा में रहकर कार्य करती हैं और अपने अपने क्षेत्रों में एक दूसरे से स्वतंत्र रहते हुए भी कार्य कर सकती हैं आप अमेरिका के संविधान को इस रूप में देख सकते हैं क्योंकि अमेरिका का संविधान एकात्मक संविधान संविधान है और ऐसे संविधान में संपूर्ण शक्तियां केंद्र के पास होती हैं और राज्य सरकार भी प्रतिकार समय-समय पर आयोजित किए जाते हैं जैसे कि ब्रिटेन की व्यवस्था

sambhidan kya hota hai संविधान कितने प्रकार के होते है आर्टिकल से क्या सीखा 

दोस्तों हमने हमारे इस आर्टिकल  में आपको बताया है कि sambhidan kya hota hai और संविधान कैसे बनाया जाता है संविधान सभा क्या होती है और संविधान कितने प्रकार के होते हैं अगर आपको हमारे द्वारा लिखा आर्टिकल अच्छा लगता है तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और हमें कमेंट करके जरूर बताएं कि आपको हमारे द्वारा लिखा आर्टिकल कैसा लगा

Previous articlebill kaise banta hai और सांसद मे बिल कैसे पास होता है 
Next article supreme court kya hota hai भारत में कितने सुप्रीम कोर्ट है | क्या होता है Supreme Court
manoj meena
हेलो दोस्तों मेरा नाम मनोज मीना है मैं बीए फाइनल ईयर का छात्र हूं मुझे बायोग्राफी लिखना काफी पसंद है क्योंकि हिंदी में ज्यादातर जानकारी किसी के बारे में भी उपलब्ध नहीं होती इसीलिए मैं ज्यादातर जानकारी इकट्ठी कर कर पॉपुलर पर्सन के बारे में बायोग्राफी लिखता हूं आप मुझे इंस्टाग्राम और फेसबुक पर फॉलो भी कर सकते हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here